अबूझ मुहूर्त ( शुभ मुहूर्त )

अबूझ मुहूर्त ( शुभ मुहूर्त )

अबूझ मुहूर्त ( अनसूझे मुहूर्त) 

हमें जीवन में कई बार शुभ कार्य करने के लिए किसी शुभ मुहर्त की जरूरत होती है । लेकिन कोई शुभ महूर्त नहीं मिलता और हमें वह कार्य करना होता है और हम परेशान होते हैं । अतः यहाँ कुछ ऐसे शुभ मुहूर्तों के विवरण दे रहा हूँ । जिनमें कोई कार्य करने के लिए किसी से मुहूर्त जानने की जरूरत नहीं  होती और कार्य किया जा सकता है बिना किसी अड़चन   के वह निम्न सात मुहूर्त  हैं,

१. चैत्र शुक्ल प्रतिपदा (नव संवत्सर, गुडी पड़वा) (मार्च-अप्रैल माह मैं) 

२. वैशाख शुक्ल तृतीया (अक्षय तृतीया) (अप्रैल-मई में )

३. आषाढ़ शुक्ला नवमी (भड़रिया नवमी (जुलाई में ) 

४. आश्विन (क्वार) शुक्ल दशमी (विजया दशमी, दशहरा ) (अक्टूबर में )

५. कार्तिक शुक्ल प्रतिपदा (गोवर्धन, अन्नकूट) (नवम्बर में )

६. माघ शुक्ल पंचमी (वसंत पंचमी ) ( फरवरी में )

७. फाल्गुन शुक्ल द्वतीया (फुलारिया दौज ) (मार्च में )

 

Latest Tweets

Follow us on Facebook

www.repldradvice.com